First National News

रवीन्द्र जड़ेजा के बारे में विस्तार से जानें

रवीन्द्रसिंह अनिरुद्धसिंह जाडेजा (जन्म 6 दिसम्बर 1988 नवागम-खेड़, सौराष्ट्र में) एक भारतीय क्रिकेटर हैं। वे प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सौराष्ट्र के लिए खेलते है। और इंडियन प्रीमियर लीग| में चेन्नई सुपर किंग्स के पूर्व कप्तान भी रह चुके हैं। वे 2008 में मलेशिया में विश्व कप की विजयी भारतीय U-19 क्रिकेट टीम का भी हिस्सा थे। जडेजा एक बाएं हाथ से खेलनेवाले मध्य क्रम के बल्लेबाज हैं और धीमी गति से बाएं हाथ के प्राचीन शैली के गेन्दबाज हैं।

जडेजा की सैलरी कितनी है?

रविंद्र जडेजा की इतनी है नेटवर्थ

सालाना उनकी कमाई का बड़ा हिस्सा 20 करोड़ रुपये से अधिक आईपीएल और भारतीय क्रिकेट टीम की सैलरी से आता है। उन्हें धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स से आईपीएल 2023 में सैलरी के रूप में 16 करोड़ रुपये मिले थे।

विंद्र जडेजा का गांव कौन सा है?

रवीन्द्रसिंह अनिरुद्धसिंह जाडेजा (जन्म 6 दिसम्बर 1988 नवागम-खेड़, सौराष्ट्र में) एक भारतीय क्रिकेटर हैं। वे प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सौराष्ट्र के लिए खेलते है। और इंडियन प्रीमियर में चेन्नई सुपर किंग्स के पूर्व कप्तान भी रह चुके हैं।

कैरियर

अन्तर्राष्ट्रीय कैरियर 2008-2009 के रणजी ट्राफी में अप्रभावशाली खेल के बाद, जिसमें वह विकेट-लेने वालों की सूची में आखिरी थे और बल्लेबाजी योगदान में साठवें स्थान पर आये थे, जडेजा को जनवरी 2009 में श्रीलंका के खिलाफ ओडीआई (ODI) श्रृंखला के लिए भारतीय टीम के लिए बुलाया गया था। उनके अन्तरराष्ट्रीय कैरियर की शुरुआत 8 फ़रवरी 2009 को इस श्रृंखला के फाइनल मैच में हुई जहां उन्होंने भाग्यशाली 60* रन बनाए, हालांकि भारत मैच हार गया। 2009 के विश्व ट्वेंटी20 (World Twenty20) में जडेजा की भारत के लिए इंग्लैंड के विरुद्ध हार में अपेक्षित रन रेट न बना पाने के लिए आलोचना की गयी थी। जब नवयुवक आलराउंडर यूसुफ पठान अपने फार्म में नहीं थे, तब 2009 के अंत में जडेजा ने एकदिवसीय टीम में उसकी नंबर सात की जगह ले ली। 21 दिसम्बर 2009 को कटक में श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे में जडेजा को चार विकेट लेने के लिए मैंन ऑफ़ द मैच पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़ा 32-4 है।

See also  अभिषेक कुमार की जीवन की कहानी हिंदी में

2022 टेस्ट सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ मोहाली टेस्ट के दूसरे दिन करियर की सर्वश्रेष्ठ नाबाद 175 रनों की पारी खेलकर इतिहास रच दिया | जडेजा टेस्ट क्रिकेट में सातवें या उससे नीचे के नम्बर पर बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा स्कोर करने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं | उन्होंने इस मामले में कपिल देव के 35 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ दिया है |

प्रथम श्रेणी क्रिकेट जडेजा ने 2006-07 में दिलीप ट्रॉफी से अपने प्रथम श्रेणी कैरियर की शुरुआत की। वह भारत-अ (India-A) सेट अप का हिस्सा है। वे दिलीप ट्रॉफी में पश्चिम क्षेत्र के लिए और रणजी ट्रॉफी में सौराष्ट्र के लिए खेलते हैं।

अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप उन्होंने 2006 और 2008 में भारत के लिए अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप खेला। उनकी गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण ने अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप 2008 के फाइनल को जीतने में भारत की मदद की थी।

इंडियन प्रीमियर लीगजडेजा को 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के उदघाटन सत्र के लिए राजस्थान रॉयल्स का एक हिस्सा चुना गया। उनके आईपीएल मैचों में शानदार प्रदर्शन के कारण टीम के कप्तान और कोच शेन वार्न ने उनकी प्रशंसा की। उनकी मौजूदगी का अहसास आईपीएल अभियान के दौरान महसूस किया गया और 2008 के फाइनल में उन्होंने अपनी टीम को जिताने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिसमें 1 जून 2008 को मुंबई में खेले गए आईपीएल फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स को हराया गया। उन्होंने आईपीएल सीजन में 14 मैचों में 135 रन बनाये, उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 36* 131.06 के स्ट्राइक रेट पर मोहाली के खिलाफ रहा।

एक अनुबंध विवाद के कारण उन्हें 2010 के टूर्नामेंट से प्रतिबंधित कर दिया गया।

See also  मनस्वी ममगई की जीवन की कहानी

जडेजा ने उसके बाद कोच्चि टस्कर्स केरल और चेन्नई सुपर किंग्स का प्रतिनिधित्व किया। आईपीएल सीजन 9 और 10 में गुजरात लॉयन्स का प्रतिनिधित्व किया।

2022 में रवींद्र जडेजा को CSK का कप्तान बनाया गया था, उन्हें ये मौका महेंद्र सिंह धोनी के कप्तानी छोड़ने के बाद मिला था |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *