First National News

69वें फ़िल्म राष्ट्रीय पुरस्कार

69वें फ़िल्म राष्ट्रीय पुरस्कार: RRR फिल्म को 6, ‘सरदार उधम’ और ‘गंगूबाई काठियावाड़ावाली’ को 5 राष्ट्रीय पुरस्कार

69th national film awards 2023 – 69वें राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कारों की घोषणा हो चुकी है। एसएसआर, राम चरण की ‘आरआरआर’ फ़िल्म ( RRR Film) को कुल मिलाकर 6 राष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं। इसके अलावा, ‘सरदार उधम’ और ‘गंगूबाई काठियावाड़ावाली’ फ़िल्मों को 5-5 राष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं।

69वें राष्ट्रीय पुरस्कार ( 69th national film awards ):

भारतीय सिनेमा के उत्कृष्टता का महोत्सव है, जो भारतीय सिनेमा की महत्वपूर्ण योगदान को मान्यता देने के लिए हर साल आयोजित किया जाता है। यह एक महत्वपूर्ण सामाजिक और सांस्कृतिक घटना होती है जिसमें भारतीय सिनेमा के अद्वितीय और प्रतिष्ठित योगदान को प्रशंसा मिलती है।

‘आरआरआर’ फ़िल्म के पुरस्कार: (rrr film)

सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म: ‘आरआरआर’

सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशन (बैकग्राउंड म्यूज़िक): ऎम.ऎम. कीरवाणी (‘आरआरआर’)

सर्वश्रेष्ठ बैकग्राउंड सिंगर: कालभैरव (‘आरआरआर’)

सर्वश्रेष्ठ चोरियोग्राफी: प्रेम रक्षित (‘आरआरआर’)

सर्वश्रेष्ठ स्पेशल इफेक्ट्स: श्रीनिवास मोहन (‘आरआरआर’)

सर्वश्रेष्ठ स्टंट्स को-ऑर्डिनेटर: किंग सोलोमन (‘आरआरआर’)

‘गंगूबाई काठियावाड़ावाली’ फ़िल्म के पुरस्कार:

सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री: आलिया भट्ट (‘गंगूबाई काठियावाड़ावाली’)

सर्वश्रेष्ठ चित्रकथा: संजय लीला बंसाली, उत्कर्षिणी वसिष्ठ (‘गंगूबाई काठियावाड़ावाली’)

सर्वश्रेष्ठ संभाषण: उत्कर्षिणी वसिष्ठ, प्रकाश कपाड़िया (‘गंगूबाई काठियावाड़ावाली’)

सर्वश्रेष्ठ संग्रहण: संजय लीला बंसाली (‘गंगूबाई काठियावाड़ावाली’)

सर्वश्रेष्ठ मेकअप: प्रीतिशील सिंग (‘गंगूबाई काठियावाड़ावाली’)

69वें राष्ट्रीय पुरस्कार 2022-23 का महत्व:

इस वर्ष के राष्ट्रीय पुरस्कार का आयोजन 22 मार्च 2023 को नई दिल्ली में हुआ था, जिसमें भारतीय सिनेमा के बेहद प्रतिष्ठित कलाकारों और निर्माताओं को उनके योगदान की मान्यता दी गई। यहां प्रमुख श्रेणियों में जीतने वाले फ़िल्मों और कलाकारों को पुरस्कृत किया गया था।

See also  सावरकर को लेकर बयानों से घिरे राहुल गांधी, ''रिश्तेदारों'' ने भी किया विरोध: देखिए खबर

69वें राष्ट्रीय पुरस्कार, भारतीय सिनेमा के निर्माताओं, निर्देशकों, अभिनेताओं, और अन्य चर्चित कलाकारों के लिए उनके प्रतिष्ठान्वित योगदान की प्रशंसा का माध्यम है। यह उनके सफलता को मान्यता देने और उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करता है और भारतीय सिनेमा को एक नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। यह पुरस्कार भारतीय सिनेमा की गरिमा और महत्व को प्रकट करता है और उसे विश्व में एक महत्वपूर्ण स्थान पर रखता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *